इंदिरा गांधी सिंगल गर्ल चाइल्ड पीजी स्कॉलरशिप

उद्देश्य

1. केवल स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों में एकल बालिका की स्नातकोत्तर शिक्षा का समर्थन करना।
2. छोटे परिवार के मानदंडों के पालन के मूल्य को पहचान करना।

योग्‍यता/ पात्रता

UGC से मान्यता प्राप्त विश्वविद्यालय में पोस्‍ट ग्रेजुएट कर रहीं गर्ल स्‍टूडेंट्स, जो अपने फर्स्‍ट ईयर में हैं।स्‍टूडेंट अपने माता-पिता की एकलौती संतान होनी चाहिए।

प्रति छात्रा कितना स्टाइपेंड मिलेगा

प्रति छात्रा स्‍टाइपेंड राशि  36,200 रुपये प्रति वर्ष दिया जाएंगा।

टार्गेट समूह

स्नातकोत्तर पाठ्यक्रमों के प्रथम वर्ष में प्रवेश लेती हैं और परिवार में अकेली बालिका होती हैं।

आयु सीमा

पीजी पाठ्यक्रमों के प्रथम वर्ष में प्रवेश के समय 30 वर्ष की आयु तक की छात्राएं पात्र हैं।

अंतिम तिथि कब तक है।
31 अक्‍टूबर 2022

इंदिरा गांधी सिंगल गर्ल चाइल्ड पीजी स्कॉलरशिप

माता-पिता की '"एकलौती बेटी"' के हायर एजुकेशन में भागीदारी बढ़ाने के उद्देश्‍य से शुरू की गई है

Apply Online & More


Click Here