Monkeypox Virus | Monkeypox Symptoms | Monkeypox Cases

Monkeypox Virus | Monkeypox Symptoms | Monkeypox Cases

मंकीपॉक्स क्या है ?

यह एक रेयर जूनोटिक बीमारी है, जो मंकीपॉक्स वायरस के संक्रमण से होती है। यह पॉक्सिविरेडे परिवार से संबंध रखता है, इसमें चेचक की बीमारी पैदा करने वाले वायरस भी होते हैं।


मंकी पॉक्स चिकन पॉक्स, स्माल पॉक्स यानी के चेचक वायरस जैसा ही है. कह लीजिये की पॉक्स वायरस का सबसे भयानक रूप है. इस वायरस को सबसे पहले साल 1970 में एक बंदर के शरीर में पाया गया था, जिसके बाद यह बंदरों से इंसानों में फ़ैल गया।


यह वायरस हवा में नहीं फैलता है, लेकिन मरीज के संपर्क में आने से, उसके ड्रॉपलेट्स से और शारीरिक संबंध की वजह से एक से दूसरे में जा सकता है। इस वजह से यह 98 परसेंट समलैंगिक में पाया जा रहा है। इस वायरस से बचाव के लिए जरूरी है कि जो संक्रमित हैं उन्हें आइसोलेट कर दिया जाए और बाकी लोगों को उससे दूर रखा जाए।

मंकीपॉक्स के लक्षण क्या है ? एवं रोकथाम monkeypox symptoms

मंकीपॉक्स के लक्षण निम्न है।


1. वायरस से संक्रमित इंसान में फीवर, गले में खराश, सांस में दिक्कत होती है।


2. चिकनॉक्स की तरह शरीर में रैशेज व दाने बन जाते हैं, जो पूरे शरीर पर दिखने लगते हैं। दाने का आकार बड़ा होता है और इसमें पस भर जाती है। इसका इनक्यूबेशन पीरियड 5 से 21 दिन का है, यह अपने आप ठीक हो जाता है।


3. मंकीपॉक्स शुरुआत में चिकनपॉक्स, खसरा या चेचक जैसा दिखता है. बुखार होने के एक से तीन दिन बाद त्वचा पर इसका असर दिखना शुरू होता है. शरीर पर दाने निकल आते हैं. हाथ-पैर, हथेलियों, पैरों के तलवों और चेहरे पर छोटे-छोटे दाने निकल आते हैं. ये दाने घाव जैसे दिखते हैं और खुद सूखकर गिर जाते हैं।


4. मंकीपॉक्स वायरस का इन्क्यूबेशन पीरियड 6 से 13 दिन तक होता है. कई बार 5 से 21 दिन तक का भी हो सकता है. इन्क्यूबेशन पीरियड का मतलब ये होता है कि संक्रमित होने के बाद लक्षण दिखने में कितने दिन लगे. संक्रमित होने के पांच दिन के भीतर बुखार, तेज सिरदर्द, सूजन, पीठ दर्द, मांसपेशियों में दर्द और थकान जैसे लक्षण दिखते हैं।


मंकी पॉक्स कैसे फैलता है / monkeypox transmission


मंकी पॉक्स वायरस दुर्लभ है, लेकिन यह घातक है। टमाटर बुखार, कोरोना, राइनो फ्लू, बर्ड फ्लू आदि जैसे संक्रमण बुखार नहीं हैं। जो व्यक्ति मंकी पॉक्स से संक्रमित व्यक्ति के संपर्क में आता है, साथ ही बंदरों, गिलहरियों, कुत्तों, बिल्लियों और अन्य जानवरों को भी यह संक्रमण होता है, लेकिन उनके लिए यह कोई नई बात नहीं है। संक्रमित जानवर के संपर्क में आने पर भी मंकीपॉक्स हो सकता है।विश्व स्वास्थ्य संगठन के अनुसार, मंकीपॉक्स एक वायरल ज़ूनोसिस (जानवरों से मनुष्य में फैलने वाला वायरस) है, जिसमें चेचक के रोगियों में अतीत में देखे गए लक्षणों के समान लक्षण होते हैं। हालांकि, यह चिकित्सकीय रूप से कम गंभीर है।

भारत में मंकिपॉक्स के मामले

पिछले दो साल से दुनिया कोरोना से जूझ रही है और अब जानलेवा वायरस अपना कहर दिखा रहा है

दुनिया भर में मंकीपॉक्स के 11,000 से अधिक मामले सामने आए हैं। फिलहाल 75 देशों में मंकीपॉक्स का अलर्ट है और इस बीच यह वायरस भारत में भी पहुंच गया है।


कई दिन पहले कुछ दिन पहले यूएई से लौटा एक मरीज केरल में मंकीपॉक्स से पीड़ित पाया गया था। मंकीपॉक्स को लेकर अब भारत सरकार में तनाव बढ़ गया है।


केरल ने आखिरी दिन ही भारत में पहला मंकीपॉक्स का मामला दर्ज किया है, लेकिन चूंकि केवल एक ही मामला है, इसलिए इस वायरस को हल्के में नहीं लिया जा सकता है।


महज दो महीने में यह वायरस 75 देशों में फैल चुका है। दुनिया भर में लगभग 11 हजार लोग इस वायरस से संक्रमित हो चुके हैं, जिनमें से 80% यूरोप से हैं।

कनाडा, मैक्सिको, ब्राजील, अर्जेंटीना, पुर्तगाल, स्पेन, अमेरिका, ब्रिटेन, जर्मनी, स्वीडन, फिनलैंड, रूस, संयुक्त अरब अमीरात, ऑस्ट्रेलिया, फ्रांस, इजरायल के बाद भारत ने मंकीपॉक्स की सूचना दी है।

मंकीपॉक्स (Monkeypox) के मामले कुछ देशों में तेजी से बढ़ रहे है। जैसे

ब्रिटेन = 2208
फ्रांस =1567
कनाडा = 681
ब्राजील = 592
नाइजीरिया = 101
भारत = 3
स्पेन = 3125
अमेरिका = 2890
जर्मनी = 2268

Monkeypox Important Short Notes in English/ history of monkeypox/ monkeypox disease

1. Monkeypox is caused by monkeypox virus, a member of the Orthopoxvirus genus in the family Poxviridae.


2. Vaccines used during the smallpox eradication programme also provided protection against monkeypox. Newer vaccines have been developed of which one has been approved for prevention of monkeypox


3. Monkeypox is usually a self-limited disease with the symptoms lasting from 2 to 4 weeks. Severe cases can occur. In recent times, the case fatality ratio has been around 3–6%.


4. Monkeypox is transmitted to humans through close contact with an infected person or animal, or with material contaminated with the virus.


5. Monkeypox virus is transmitted from one person to another by close contact with lesions, body fluids, respiratory droplets and contaminated materials such as bedding.


6. Monkeypox is a viral zoonotic disease that occurs primarily in tropical rainforest areas of central and west Africa and is occasionally exported to other regions.


7. An antiviral agent developed for the treatment of smallpox has also been licensed for the treatment of monkeypox.


8. The clinical presentation of monkeypox resembles that of smallpox, a related orthopoxvirus infection which was declared eradicated worldwide in 1980. Monkeypox is less contagious than smallpox and causes less severe illness.


9. Monkeypox typically presents clinically with fever, rash and swollen lymph nodes and may lead to a range of medical complications.

Monkeypox Introduction


Monkeypox is a viral zoonosis (a virus transmitted to humans from animals) with symptoms similar to those seen in the past in smallpox patients, although it is clinically less severe. 

Monkeypox virus is an enveloped double-stranded DNA virus that belongs to the Orthopoxvirus genus of the Poxviridae family.

Natural host of monkeypox virus


Various animal species have been identified as susceptible to monkeypox virus. This includes rope squirrels, tree squirrels, Gambian pouched rats, dormice, non-human primates and other species.

Transmission of Monkeypox / monkeypox transmission

Animal-to-human (zoonotic) transmission can occur from direct contact with the blood, bodily fluids, or cutaneous or mucosal lesions of infected animals. In Africa, evidence of monkeypox virus infection has been found in many animals including rope squirrels, tree squirrels, Gambian pouched rats, dormice, different species of monkeys and others. The natural reservoir of monkeypox has not yet been identified, though rodents are the most likely. Eating inadequately cooked meat and other animal products of infected animals is a possible risk factor. People living in or near forested areas may have indirect or low-level exposure to infected animals.

Human-to-human transmission can result from close contact with respiratory secretions, skin lesions of an infected person or recently contaminated objects. Transmission via droplet respiratory particles usually requires prolonged face-to-face contact, which puts health workers, household members and other close contacts of active cases at greater risk. However, the longest documented chain of transmission in a community has risen in recent years from 6 to 9 successive person-to-person infections. This may reflect declining immunity in all communities due to cessation of smallpox vaccination. Transmission can also occur via the placenta from mother to fetus (which can lead to congenital monkeypox) or during close contact during and after birth. While close physical contact is a well-known risk factor for transmission, it is unclear at this time if monkeypox can be transmitted specifically through sexual transmission routes. Studies are needed to better understand this risk.

Signs and symptoms of Monkeypox

The incubation period (interval from infection to onset of symptoms) of monkeypox is usually from 6 to 13 days but can range from 5 to 21 days.

The infection can be divided into two periods:

the invasion period (lasts between 0–5 days) characterized by fever, intense headache, lymphadenopathy (swelling of the lymph nodes), back pain, myalgia (muscle aches) and intense asthenia (lack of energy). Lymphadenopathy is a distinctive feature of monkeypox compared to other diseases that may initially appear similar (chickenpox, measles, smallpox)

the skin eruption usually begins within 1–3 days of appearance of fever. The rash tends to be more concentrated on the face and extremities rather than on the trunk. It affects the face (in 95% of cases), and palms of the hands and soles of the feet (in 75% of cases). Also affected are oral mucous membranes (in 70% of cases), genitalia (30%), and conjunctivae (20%), as well as the cornea. The rash evolves sequentially from macules (lesions with a flat base) to papules (slightly raised firm lesions), vesicles (lesions filled with clear fluid), pustules (lesions filled with yellowish fluid), and crusts which dry up and fall off. The number of lesions varies from a few to several thousand. In severe cases, lesions can coalesce until large sections of skin slough off.

Diagnosis of Monkeypox

The clinical differential diagnosis that must be considered includes other rash illnesses, such as chickenpox, measles, bacterial skin infections, scabies, syphilis, and medication-associated allergies. Lymphadenopathy during the prodromal stage of illness can be a clinical feature to distinguish monkeypox from chickenpox or smallpox.

Vaccination/ monkeypox treatment

Vaccination against smallpox was demonstrated through several observational studies to be about 85% effective in preventing monkeypox.  

Some Important Link

For Latest Job UpdateClick Here
For Latest Trending TopicClick Here

Disclaimer : – हमारा उद्देश्य केवल आपको सही जानकारी देना है, इसलिए आपसे अनुरोध है कि वेबसाइट द्वारा प्रदान की गई सभी सूचनाओं को अच्छी तरह से जांच लें क्योंकि इसमें गलतियों की संभावना है। हमारी साइट पर कम से कम गलतियाँ होती हैं, लेकिन फिर भी अगर गलतियाँ होती हैं, तो हमारा आपको भ्रमित करने का कोई इरादा नहीं है। हम इन गलतियों के लिए क्षमा चाहते हैं।

Monkeypox Virus

3 thoughts on “Monkeypox Virus | Monkeypox Symptoms | Monkeypox Cases

  • August 2, 2022 at 9:05 pm
    Permalink

    One roof every knowledge

    Reply
  • August 2, 2022 at 9:50 pm
    Permalink

    Unique knowledge of monkey pox

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.