Chief Minister Beggary Prevention Scheme : Bihar | मुख्यमंत्री भिक्षावृत्ति निवारण योजना : बिहार

Post’s Name -Chief Minister Beggary Prevention Scheme : Bihar | मुख्यमंत्री भिक्षावृत्ति निवारण योजना : बिहार

“भिक्षावृत्ति को छोड़िए , आत्मनिर्भर बनिये” बिहार सरकार– Chief Minister Beggary Prevention Scheme


मुख्यमंत्री भिक्षावृत्ति निवारण योजना बिहार सरकार की महत्वाकांक्षी योजना है। इसका उद्देश्य राज्य को भिक्षावृत्ति के अभिशाप से मुक्त करना है। भिक्षुओं के कल्याण के उद्देश्य हेतु राज्य सरकार के द्वारा इस योजना को चलाया जा रहा है।

जिसके तहत भिक्षुकों की पहचान कर उनको पहचान पत्र वितरित करते हुए सरकार के विभिन्न कल्याणकारी योजनाओं के साथ जोड़ना है एवं वृद्ध, पूर्णता दिव्यांग एवं लावारिस अवस्था में पाए जाने वाले भिक्षुक को आवासीय सुविधा उपलब्ध कराना है एवं नशा विमुक्ति करण के द्वारा उनका पुनर्वास सुनिश्चित करना है।

बिहार में मुख्यमंत्री भिक्षावृत्ति निवारण योजना – Chief Minister Beggary Prevention Scheme

मुख्यमंत्री भिक्षावृत्ति निवारण योजना (एमबीएनवाई) : मुख्यमंत्री भिक्षावृत्ति निवारण योजना (एमबीएनवाई) भिखारियों की देखभाल, सुरक्षा, विकास, सामाजिक-आर्थिक और सांस्कृतिक सशक्तिकरण को सक्षम नीतियों और कार्यक्रमों के माध्यम से सुनिश्चित करके उनके अधिकारों की रक्षा और बढ़ावा देती है।

 MBNY एक बिहार राज्य सरकार की योजना है। – Chief Minister Beggary Prevention Scheme


बिहार में मुख्यमंत्री भिक्षावृत्ति निवारण योजना को केंद्र सरकार ने 10 शहरों में शुरू किया है. वहीं, राज्य सरकार के मार्गदर्शन में समाज कल्याण विभाग ने भिक्षावृत्ति से मुक्त किये हर भिखारी को कौशल प्रशिक्षण योजना से जोड़ने की तैयारी कर ली है.

इसके माध्यम से सभी भिखारियों को कौशल के मुताबिक उनके काम में दक्ष बनाया जायेगा, ताकि वह खुद के पैरों पर खड़े होकर रोजगार से जुड़ सकें।

भिक्षावृत्ति निवारण योजना की प्रमुख गतिविधियां : – Chief Minister Beggary Prevention Scheme

1. भिक्षुकों का आधार कार्ड बनवाना ।
2. बैंक खाता खुलवाना एवं।
3. विभिन्न प्रकार के प्रमाण पत्र दिलवाना तथा विभिन्न योजनाओं का लाभ दिलवाना जो सामान्य जनजीवन में रहने वाले व्यक्ति प्रयोग करते हैं।


4. दिव्यांग भिक्षुक का दिव्यांग का प्रमाण पत्र बनवाना एवं विधवा , वृद्धि तथा दिव्यांगता पेंशन का लाभ दिलवाना ।
5. अति वृद्धि एवं मानसिक रूप से विक्षिप्त महिला एवं पुरुष भिक्षुकों को “भिक्षुक पुनर्वास गृह” में रखकर भोजन, वस्त्र ,चिकित्सा, परामर्श, मनोरंजन एवं कानूनी सलाह उपलब्ध करवाना।


6. स्वरोजगार के योग एवं इच्छुक भिक्षुकों हेतु चाय दुकान , फल- फूल सब्जी, ठेला रिक्शा ,किराना दुकान एवं अन्य कार्य हेतु स्वावलंबन कार्यक्रम के अंतर्गत रुपए 10000 तक आर्थिक सहायता दी जाएगी।
7. विभिन्न कार्यालयों फर्मों में रोजगार पाने के लिए कौशल प्रशिक्षण एवं नियोजन का प्रबंध किया जाएगा।


8. उत्पादक समूह सेल्फ हेल्प ग्रुप से जोड़ कर सामूहिक रूप से सामग्री का उत्पादन में बाजार में बिक्री तथा लाभ का आपस में वितरण करवाया जाएगा।


9. निराश्रित बच्चे ,बाल भिक्षुकों एवं भिक्षुकों के बच्चों को स्कूल और आंगनवाड़ी केंद्र में भर्ती कराना।
10. भिक्षावृत्ति छोड़ चुके लोगों को उनके परिवार से जोड़ना और उनके लिए कार्य करने हेतु अनुकूल वातावरण प्रदान करना।

भिक्षुक पुनर्वास गृह के लिए चयनित जिले : बिहार – Chief Minister Beggary Prevention Scheme

इस योजना के तहत पूर्वी चंपारण, सीतामढ़ी, मधुबनी, वैशाली, अररिया, किशनगंज, जमुई, शेखपुरा,लखीसराय, मधेपुरा, औरंगाबाद और अरवल जिले का चयन किया गया है. जबकि पटना, गया, मुजफ्फरपुर, दरभंगा, पूर्णिया, भागलपुर, मुंगेर, सारण, सहरसा, रोहतास, नालंदा व कटिहार में यह योजना पहले से ही चलाई जा रही है।

हेल्प लाइन नंबर  : 18003456262 – Chief Minister Beggary Prevention Scheme : Bihar.

For More Detail visit Official Website.

Important Link

Official WebsiteClick Here
For More TopicClick Here
Chief Minister Beggary Prevention Scheme : Bihar

Disclaimer – हमारा उद्देश्य केवल आपको सही जानकारी देना है, इसलिए आपसे अनुरोध है कि वेबसाइट द्वारा प्रदान की गई सभी सूचनाओं को अच्छी तरह से जांच लें क्योंकि इसमें गलतियों की संभावना है। हमारी साइट पर कम से कम गलतियाँ होती हैं, लेकिन फिर भी अगर गलतियाँ होती हैं, तो हमारा आपको भ्रमित करने का कोई इरादा नहीं है। हम इन गलतियों के लिए क्षमा चाहते हैं।

Leave a Reply

Your email address will not be published.