BC and EBC Welfare Scheme Bihar |पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण योजना: बिहार

Post’s Name : – BC and EBC Welfare Scheme Bihar |पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण योजना: बिहार

Backward Classes and Extremely Backward Classes Welfare Department Schemes BIHAR SARKAR

पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग वर्ग को बिहार सरकार द्वारा कल्याण विभाग के द्वारा निम्न योजनाओं का लाभ दिया जाता है।

कल्याण विभाग द्वारा BC & EBC मिलने वाला लाभ

1. अति पिछड़ा वर्ग के छात्रों को वृत्तिका प्रदान करना। 2. अति पिछड़ा वर्ग के छात्रों को पुस्तकें एवं उपसाधनों के लिए अनुदान।
3. अति पिछड़ा वर्ग के सदस्यों के विकास के लिए उन्हें ऋण उपलब्ध कराना।
4. अति पिछड़ा वर्ग के छात्रों के लिए छात्रावास खोलना एवं उनका प्रबंधन करना।
5. अति पिछड़ा वर्ग के लिए सहकारी समितियों का गठन।
6. अति पिछड़ा वर्ग के फायदे के लिए काम करने वाली शैक्षिक तथा सांस्कृतिक संस्थाओं को सहायक अनुदान। 7. पिछड़ा वर्ग के छात्रों को वृतिका प्रदान करना।
8. पिछड़ा वर्ग के छात्रों को पुस्तकें एवं उपसाधनों के लिए अनुदान।
9. पिछड़ा वर्ग के सदस्यों के विकास के लिए उन्हें ऋण उपलब्ध कराना।
10. पिछड़ा वर्ग के छात्रों के लिए छात्रावास खोलना एवं उनका प्रबंधन करना।
11. पिछड़ा वर्ग के लिए सहकारी समितियों का गठन।

12.पिछड़ा वर्ग के फायदे के लिए काम करने वाली शैक्षिक तथा सांस्कृतिक संस्थाओं को सहायक अनुदान।

13. बिहार राज्य पिछड़ा वर्ग वित्त एवं विकास निगम।

14. पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग के लिए विशेष गृह-निर्माण योजनाएँ।

शैक्षणिक विकास योजना:

वर्तमान में विभाग द्वारा इस वर्ग के छात्र/छात्राओं के शैक्षिक विकास हेतु अनेक महत्वपूर्ण योजनाएँ संचालित की जा रही हैं। इनमें मुख्य योजनाएँ निम्न रूप से सम्मिलित हैंः-


(1) अन्य पिछड़ा वर्ग प्री-मैट्रिक (विद्यालय) छात्रवृत्ति योजना,
(2) अन्य पिछड़ा वर्ग प्रवेशिकोत्तर छात्रवृत्ति योजना, (3) मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग मेधावृत्ति योजना,
(4) मुख्यमंत्री पिछड़ा वर्ग मेधावृत्ति योजना,
(5) प्राक् परीक्षा प्रशिक्षण योजना,
(6) अन्य पिछड़ा वर्ग कल्याण छात्रावास योजना,
(7) जननायक कर्पूरी ठाकुर अत्यंत पिछड़ा वर्ग कल्याण छात्रावास योजना,
(8) अन्य पिछड़ा वर्ग कन्या आवासीय +2 उच्च विद्यालय का संचालन ,
(9) मुख्यमंत्री पिछडा़ वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कौशल विकास योजना,
(10) मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना,
(11) मुख्यमंत्री पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग छात्रावास अनुदान योजना एवं
(12)छात्रावासों में खाद्यान्न आपूर्ति योजना।

योजनाओं का कार्यान्वयन मुख्यालय स्तर एवं क्षेत्रीय स्तर पर प्रमंडलीय उप निदेशक (कल्याण), जिला कल्याण पदाधिकारी एवं प्रखंड कल्याण पदाधिकारी के माध्यम से कराया जाता है |

पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग  कल्याण विभाग विभाग द्वारा कौन-कौन सी योजनाएं चलाई जा रही है?

पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग के द्वारा निम्नलिखित योजनाओं का संचालन वर्तमान में बिहार सरकार के द्वारा अपने विभिन्न इकाइयों के द्वारा करवाया जा रहा है।

1• मुख्यमंत्री पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कौशल विकास योजना
“मुख्यमंत्री पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कौशल विकास योजना” इन वर्गो के लोगों की बेरोजगारी दूर करने एवं जीवन स्तर ऊपर उठाने के उद्देश्य से संचालित है। इस योजना के अंतर्गत राज के अत्यंत पिछड़े वर्गों के व्यक्तियों के लिए कौशल विकास प्रशिक्षण कार्यक्रम (Skill Development Scheme ) का संचालन श्रम संसाधन विभाग के माध्यम से किया जा रहा है। इस योजना के तहत CIPET ( Central Institute Of Plastic Eng. & Tech ), हाजीपुर एवं अन्य ३० चयनित कौशल प्रशिक्षण प्रदाता केंद्रों द्वारा विभिन्न ट्रेंडों में प्रशिक्षण प्रारम्भ किया जा रहा है।

2•मुख्यमंत्री पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग छात्रावास अनुदान योजना
मुख्यमंत्री पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग छात्रावास अनुदान योजना एवं राज्य के अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति कल्याण विभाग, पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग एवं अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के अंतर्गत संचालित छात्रावासों में आवासित छात्र-छात्राओं को खाद्यान (गेहूं एवं चावल) की आपूर्ति


राज्य सरकार द्वारा छात्र – छात्राओं को उच्च शिक्षा के प्रति जागरूक एवं उच्च शिक्षा दर में वृद्धि करने के उद्देश्य एवं छात्रावास सम्बन्धी आवश्यकताओं की पूर्ती हेतु मुख्यमंत्री पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग छात्रावास अनुदान योजना लागू की गयी है। इस योजना के अंतर्गत पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग छात्रावासों में अध्ययनरत छात्र/ छात्राओं को उनकी छात्रावास सम्बन्धी दैनिक आवश्यकताओं की पूर्ती हेतु प्रति छात्र/छात्रा 1000 रू० प्रतिमाह की दर से छात्रावास अनुदान दिया जा रहा है। राशि सीधे छात्र/छात्राओं के कहते में हस्तांतरित की जाति है ।


इसके अतिरिक्त राज्य में अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति कल्याण विभाग, पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग, पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा कल्याण विभाग तथा अल्पसंख्यक कल्याण विभाग के अंतर्गत संचालित छात्रावासों में आवासित अध्ययनरत छात्र/छात्राओं को सरकार ने 15 किलो मुफ्त अनाज भी दिया जा रहा है। इस योजना के तहत छात्र/छात्राओं की रुचि को देखते हुए 15 किलो में से 9 किलो चावल एवं 6 किलो गेहूं की आपूर्ति की जा रही है।


इस योजना का लाभ प्राप्त करने के लिए छात्र को अनुसूचित जाति एवं अनुसूचित जनजाति कल्याण, पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा पिछड़ा वर्ग कल्याण तथा अल्पसंखयक कल्याण विभाग के अंतर्गत संचालित छात्रावासों में आवासित होने के साथ साथ किसी मान्यता प्राप्त शिक्षण संस्थान में अध्ययनरत भी होना चाहिए। छात्रावास योजना के तहत छात्रावासों में में आवासित छात्रों की सूची छात्रावास अधीक्षक द्वारा विभागीय पोर्टल, ई-कल्याण पोर्टल पर अपलोड की जाएगी।

इसका सत्यापन जिला कल्याण पदाधिकारी के अनुमोदन के पश्चात प्रतिमाह छात्र/छात्रों के बैंक खाता में छात्रावास अनुदान की राशि का अंतरण किया जायेगा छात्रावासों तक खाद्यान की आपूर्ति बिहार राज्य खाद्य आपूर्ति निगम द्वारा डोर स्टेप डिलीवरी योजना के तहत सीधे छात्रावास में की जा रही है। खाद्यान की कुल लागत तथा अन्य व्यय यथा-परिवहन, हथालन, स्थापना एवं भण्डारण आदि का भुगतान राज्य सरकार द्वारा किया जा रहा है।


3•खाद्यान्न अपूर्ति योजना : यह एक नई योजना है एवं इसका प्रारंभ वित्तीय वर्ष 2018-19 से किया गया है।
पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग के अन्तर्गत संचालित छात्रावासों में आवासित होकर अध्ययनरत छात्र/छात्राओं को कॉट, मैट्रेस, पठन-पाठन हेतु टेबल-कुर्सी एवं खाना बनाने हेतु बर्तन इत्यादि की सुविधा दी जा रही है।

4•मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग सिविल सेवा प्रोत्साहन योजना
5•मुख्यमंत्री अत्यंत पिछड़ा वर्ग मेधावृत्ति योजना
6•मुख्यमंत्री पिछड़ा वर्ग मेधावृत्ति योजना
7•अन्य पिछड़ा वर्ग कन्या आवासीय +२ उच्च विद्यालय
पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण विभाग के अधीन वर्तमान में पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग की छात्राओं के लिए कुल 12 अन्य पिछड़ा वर्ग कन्या आवासीय +2 उच्च विद्यालय संचालित हैं, जिनमें वर्ग 6 से 12 की कक्षायें संचालित की जाती हैं, जिसका स्वीकृत छात्रबल प्रति विद्यालय 280 है। वर्तमान में कुल 2810 छात्राएं अध्ययनरत है । इन विद्यालयों में छात्राओं को भोजन, पठन-पाठन सामग्री, पुस्तकालय तथा तेल, साबुन इत्यादि के लिए निर्धारित दरों पर राशि उपलब्ध कराई जाती है ।


वर्तमान में निम्नलिखित स्थानों पर कन्या आवासीय +2 उच्च विद्यालय संचालित हैं – (1) पटना, (2) मोकामा, (3) मुजफ्फरपुर, (4) गया, (5) पूर्णिया, (6) भागलपुर, (7) दरभंगा, (8) समस्तीपुर, (9) सहरसा, (10) मुंगेर, (11) रोहतास तथा (12) छपरा।


8•जननायक कर्पूरी ठाकुर अत्यंत पिछड़ा वर्ग कल्याण छात्रावास


9•अन्य पिछड़ा वर्ग प्रवेशिकोत्तर छात्रवृत्ति योजना:– इस योजना के तहत वर्ग 11 एवं उच्चतर कक्षा तथा डिप्लोमा / डिग्री स्तर का मेडिकल / इंजीनियरिंग / प्रबंधन एवं अन्य प्रवेशिकोत्तर कोर्सों में अध्ययनरत अन्य पिछड़े वर्ग के छात्र/छात्राओं को निर्धारित दर पर प्रवेशिकोत्तर छात्रवृति दी जाती है । इसका लाभ प्राप्त करने हेतु पिछड़ा वर्ग के आवेदकों के अभिभावक की सभी स्रोतों से कुल वार्षिक आय अधिकतम 1 लाख रु. होनी चाहिए ।


10•परीक्षा शुल्क प्रतिपूर्ति : पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग के छात्र/छात्राओं को विद्यालय परीक्षा समिति की माध्यमिक परीक्षा के लिए परीक्षा शुल्क की प्रतिपूर्ति इस विभाग के द्वारा की जाती है।


11•प्राक परीक्षा प्रशिक्षण केंद्र : Pre-Examination Center
वित्तीय वर्ष 2015-16 से राज्य योजना मद में बजट प्रावधान से पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग के छात्र/छात्राओं के लिए एक-एक प्राक परीक्षा प्रशिक्षण केन्द्र का नाम
1. पटना विश्वविद्यालय, पटना
2. मगध विश्वविद्यालय, बोधगया
3. बाबासाहेब भीमराव अम्बेदकर बिहार विश्वविद्यालय, मुजफ्फरपुर
4. तिलकामांझी भागलपुर विश्वविद्यालय, भागलपुर
5. ललित नारायण मिथिला विश्वविद्यालय, दरभंगा
6. जयप्रकाश विश्वविद्यालय, छपरा
7. भूपेन्द्र नारायण मंडल विश्वविद्यालय, मधेपुरा
8. वीरकुंवर सिंह विश्वविद्यालय, आरा
प्राक परीक्षा प्रशिक्षण केंद्र खोलने का उद्देश्य :


यह योजना पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग के छात्र/छात्राओं को यू०पी०एस०सी०/बी०पी०एस०सी० एवं अन्य प्रतियोगिता परीक्षाओ की तैयारी नि:शुल्क कराने के उद्देश्य से शुरू किया गया है। प्राक परीक्षा प्रशिक्षण केन्द्रों का पर्येवेक्षण एवं मूल्यांकन बिहार राज्य पिछड़ा वर्ग वित्त एवं विकास निगम द्वारा किया जाता है। प्रतिकेन्द्र 120 प्रतियोगियों को प्रतियोगिता परीक्षा की निःशुल्क तैयारी कराई जाती है । राज्य के प्रत्येक जिलों में एक-एक केंद्र के संचालन हेतु कुल 8 करोड़ रु. का बजट का प्रावधान किया गया है ।


12•अन्य पिछड़ा वर्ग प्री-मैट्रिक (विद्यालय) छात्रवृत्ति योजना


इस योजना के अंतर्गत राज्य के सरकारी सरकार द्वारा मान्यता प्राप्त तथा स्थापना प्रस्वीकृत विद्यालयों में वर्ग 1 से 10 तक अध्ययनरत पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग के छात्र/छात्राओं को दिनांक 01.04.2012 से निम्न दर से छात्रवृत्ति राशि का भुगतान किया जाता है –


1.विद्यालय छात्रवृत्ति (वर्ग 1 से 4)50 रूपये प्रति माह
2.विद्यालय छात्रवृत्ति (वर्ग 5 से 6)100 रूपये प्रति माह
3.विद्यालय छात्रवृत्ति (वर्ग 7 से 10)150 रूपये प्रति माह
4.विद्यालय छात्रवृत्ति (वर्ग 1 से 10) (छात्रावासी)250 रूपये प्रति माह
13•नेशनल स्कॉलरशिप पोर्टल

Important Link

ई-कल्याण वेबसाइट : सभी योजनाएं एक छत के नीचे  बिहार सरकार से संबंधित योजनाओं का लाभ उठाने के लिए वेबसाइट लिंक Click Here
लेटेस्ट जॉब अपडेटClick Here
इसी प्रकार की और जानकारी के लिएClick Here
BC and EBC Welfare Scheme Bihar

Disclaimer : –

हमारा उद्देश्य केवल आपको सही जानकारी देना है, इसलिए आपसे अनुरोध है कि वेबसाइट द्वारा प्रदान की गई सभी सूचनाओं को अच्छी तरह से जांच लें क्योंकि इसमें गलतियों की संभावना है। हमारी साइट पर कम से कम गलतियाँ होती हैं, लेकिन फिर भी अगर गलतियाँ होती हैं, तो हमारा आपको भ्रमित करने का कोई इरादा नहीं है। हम इन गलतियों के लिए क्षमा चाहते हैं।

One thought on “BC and EBC Welfare Scheme Bihar |पिछड़ा वर्ग एवं अति पिछड़ा वर्ग कल्याण योजना: बिहार

  • August 6, 2022 at 7:47 pm
    Permalink

    BC & EBC YOJNA एक नजर ME

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.