Agneepath Scheme In Hindi – Agneeveer Scheme 2022

Agneepath Scheme In Hindi – Agneeveer Scheme 2022 अग्निपथ से अग्निवीर सम्पूर्ण जानकारी हिंदी में

भारतीय सेना से युवाओं को जोड़ने के लिए केंद्र सरकार ने सेना सुधारों को लेकर बड़ा कदम उठाया है। इन सुधारों में प्रमुख रूप से “अग्निपथ से अग्निवीर” योजना के जरिए कम समय के लिए युवाओं को सेना में शामिल किया जाएगा, जिसकी अवधि चार साल की होगी। इस भर्ती योजना का प्रारूप भूतपूर्व चीफ डिफेंस स्टाफ जनरल वीपीन रावत ने किया था। इसका उद्देश्य मुख्य रूप से सेना की औसत आयु कम करना एवं रक्षा बजट का वेतन और पेंशन मद में कटौती करना है। यह टूर आॅफ ड्यूटी प्रोग्राम का हिस्सा है जिसको पी एम मोदी का ड्रीम प्रोजेक्ट भी माना जाता है

विशेषताएं

 4 साल के लिए युवा सैनिकों की भर्ती होगी।
• उम्र सीमा 17•5 से 21 वर्ष होगी विरोध के कारण अधिकतम आयु 23 वर्ष कर दी गयी है।
• शुरुआती वेतन 30 हजार तथा चौथे साल में वेतन 40 हजार होगी। वेतन का 30 फीसदी हिस्सा सेवा निधि में जमा होंगे जिसमें सरकार का योगदान भी 30 फीसदी होगा।
• चार साल की सेवा के बाद अग्निवीर को 11•71 लाख रुपए का पैकेज दिया जाएगा जो टैक्स फ्री होगा
• 10 वीं और 12वीं  पास विद्यार्थी आवेदन के योग्य होगा
• चार साल की सेवा के बाद योग्यता के आधार पर 25% अग्निवीर को सेना में लंबी अवधि के लिए सेवा का मौका मिलेगा।
• अग्निवीरों को किसी भी प्रकार का पेंशन नहीं दिया जाएगा।
• अग्निवीरों को 48 लाख का बीमा कवर भी प्राप्त होगा। सेवा काल में मृत्यु होने पर 44 लाख की अतिरिक्त अनुग्रह राशि परिवार को मिलेगी साथ ही बचे सेवा अवधि की वेतन एवं सेवा निधि की रकम परिवार को मिलेगी।
• अग्निवीर के तहत सेना के तीनों अंग में  लड़कियों को भी शामिल किया जाएगा।
• अग्निवीर योजना के तहत  46 हजार अग्निवीरों की भर्ती सालाना होगी।
• चार साल की सेवा के बाद विभिन्न क्षेत्र में कार्य के लिए प्राथमिकता एवं अलग से आरक्षण का प्रावधान।
• सस्ते दर पर लोन की सुविधा व्यवसाय करने के लिए।
• चार साल की सेवा के बाद इनको डिप्लोमा सर्टिफिकेट कौशल योग्यता के आधार पर दिया जाएगा।

भारतीय सेना में आॅफिसर रैंक से नीचे के सैनिकों के लिए नयी भर्ती योजना का नाम अग्निपथ दिया गया है, जिसके तहत चार साल के लिए सैनिकों की बहाली की जाएगी इन सैनिकों को अलग रैंक दी जाएगी इस भर्ती से रेजिमेंट प्रणाली प्रभावित नहीं होगी इसका स्वरूप राष्ट्रीय होगा। इस योजना के माध्यम से सरकार पेंशन बिल को कम करना चाहती है जो वर्तमान समय में 1•19696 लाख करोड़ रुपए है।
वर्तमान समय में बदलते परिवेश और सोच के कारण युद्ध लड़ने के तरिके में भी बदलाव आया है अब परंपरागत युद्ध प्रणाली के बदले मशीनों के द्वारा युद्ध लड़ाई की शुरुआत हो गई है इसको ध्यान में रखते हुए सैन्य संसाधनों का आधुनिकीकरण अत्यंत आवश्यक हो गया है जिसमें व्यापक पूंजी की आवश्यकता है जो इन मदों में कटौती करके पुरी की जा सकती है।

अग्निवीर की तरह सेना में भर्ती विश्व के अन्य देशों में पहले से ही प्रचलित है जो निम्न है।

1. अमेरिका: इस देश में भर्तियां ऐच्छिक आधार पर होती है। उन्हें पहले चार साल के लिए सेवा में लिया जाता है फिर चार साल का एक्सटेंशन दिया जाता है। छोटे अवधि वाले सैनिक को रिटायर होने पर भत्ता दिया जाता है ये पेंशन के हकदार नहीं होते है।
2. चीन: इस देश में अनिवार्य रूप से सैनिकों की बहाली की जाती है 40 दिन के प्रशिक्षण के बाद दो साल सेवा का मौका दिया जाता है। इसके बाद कर में छूट तथा अन्य लाभ दिए जाते है।
3. फ्रांस: इस देश में अनुबंध के आधार पर भर्ती होती है जो 1 साल से 5 साल तक के होते है।
4. रूस: इस देश में 1 वर्ष के प्रशिक्षण के बाद 1 साल सेवा का मौका देकर उन्हें रिजर्व में रख लिया जाता है, फिर इनमें से ही नियमित सैनिकों की बहाली की जाती है। रूस का यह भर्ती माॅडल हाइब्रिड भर्ती माॅडल कहलाता है।
5. इजराइल: इस देश में पुरूषों को 32 महीने और महिलाओं को 24 महीने की न्यूनतम सेवा सेना में देना जरूरी होता है। इनमें से 10% को ही सेना में 7 साल के लिए शामिल किया जाता है। 12 वर्ष की सेवा के बाद वे पेंशन के हकदार हो जाते है।
6. मिश्र: 18 से 30 वर्ष के प्रत्येक युवा को 18 महिने से 36 महिने की सेवा सेना में देनी होती है।
7. वियतनाम: 18 से 27 वर्ष के युवाओं के लिए 24 से 36 महीने की सैन्य सेवा का नियम है।
8. यूक्रेन: 20 से 27 साल के युवाओं के लिए 12 से 24 महीने के लिए सैन्य  सेवा देने का प्रावधान मौजूद है।
उपरोक्त के अतिरिक्त विश्व के अन्य देश भी है जहां पर 1 साल या उससे कम या उससे अधिक समय के लिए युवाओं को अनुबंध के तौर पर शामिल किया जाता है। यथा स्वीडन, नार्वे, उत्तर कोरिया, मोरक्को, चाड, ग्रीस, तुर्की, अल्जीरिया, बोलिविया, कोलंबिया, एस्टोनिया, कजाखस्तान, किर्गिस्तान, लिथुआनिया, ग्वाटेमाला, मालदीव, मंगोलिया, पराग्वे, ट्यूनिशिया, उजबेकिस्तान, ब्रिटेन, ब्राजील एवं ताइवान है।

वास्तव में टूर आॅफ ड्यूटी का अस्तित्व सकेण्ड वर्ल्ड वार के समय आया जब इस वार में ब्रिटिश वायु सेना के अंदर पायलट की कमी हो गयी तब इस प्रोग्राम के तहत युवाओं को कम समय के लिए बहाल कर समस्या को दूर किया जिसके परिणाम लाभदायक सिद्ध हुए इस प्रयोग का अनुसरण उस समय के अन्य राष्ट्र ने भी अपनाया वर्तमान में विश्व के अधिकांश देश इस योजना के तहत ही अपने नागरिक  से सैन्य सेवा ले रहे है। भारत में  टूर आॅफ ड्यूटी का नाम अग्निपथ दिया गया है।

अग्निवीर के लिए पात्रता:

1. भारत का नागरिक होना चाहिए।
2. आयु 17•5 वर्ष से 21 वर्ष (वर्ष 2022-2023 के लिए अधिकतम आयु 23 वर्ष है)
3. 8वीं, उत्तीर्ण हो।
4. 10वीं, उत्तीर्ण हो।
5. 12वीं उत्तीर्ण हो।

अग्निवीर चयन प्रक्रिया के चरण:

1. शारीरिक दक्षता परीक्षा ( पीईटी:PET)
2. शारीरिक मापते
3. मेडिकल टेस्ट
4. लिखित परीक्षा

अग्निवीर के लिए शैक्षणिक योग्यता:

1. सामान्य ड्यूटी (GD): 45% अंकों के साथ 10वीं कक्षा पास परन्तु हर विषय में 33% अंक होना जरूरी।
2. तकनीकी सेवा विमानन यूनिट सहित: P C M व ENG में 50% अंकों के साथ 12वीं पास।
3. अग्निवीर क्लर्क या स्टोरकीपर: 60%  अंकों के साथ 12वीं उत्तीर्ण परन्तु ENG व MATH में 50% अंक जरूरी।
4. अग्निवीर ट्रेड्समैन 10वीं पास: सभी विषय में 33% अंक के साथ  10वीं पास।
5. अग्निवीर ट्रेड्समैन 8वीं पास: सभी विषय में 33% अंक के साथ  8वीं पास।

अग्निवीर शारीरिक कद काठी कम से कम मापदंड:

सामान्य सिपाही: लंबाई 169 सेमी, वजन 50 किलो, छाती 77 सेमी ( फुलाकर 82 सेमी)
• तकनीकि सिपाही:  लंबाई 169 सेमी, वजन 50 किलो, छाती 77 सेमी ( फुलाकर 82 सेमी)
• सिपाही क्लर्क:  लंबाई 162 सेमी, वजन 50 किलो, छाती 77 सेमी ( फुलाकर 82 सेमी)
• सिपाही स्टोर कीपर:  लंबाई 162 सेमी, वजन 50 किलो, छाती 77 सेमी ( फुलाकर 82 सेमी)
• सिपाही ट्रेड्समैन 10वीं पास:लंबाई 169 सेमी, वजन 50 किलो, छाती 76 सेमी ( फुलाकर 82 सेमी)
• सिपाही ट्रेड्समैन 8 वीं पास:  लंबाई 169 सेमी, वजन 50 किलो, छाती 76सेमी ( फुलाकर 81 सेमी)

अग्निवीर के लिए आयु सीमा :

वर्ष 2022-2023 के आयु में 2 वर्ष की छूट दी गयी है। इसके बाद अधिकतम आयु 21 वर्ष ही रहेगी।

अग्निवीर के लिए प्रवेश परीक्षा में छूट:

कार्यरत सैनिक के बच्चे, पूर्व सैनिक के बच्चे, बलिदानी सैनिक के बच्चे, सैनिक की विधवा के बच्चें को सामान्य प्रवेश परीक्षा में 20 अंक बोनस के रूप में दिया जाएगा।
इसके अलावा NCC-A NCC-B प्रमाण-पत्र वालें विद्यार्थी  को भी अंक मिलेंगे

अग्निवीर के लिए सलाना छुट्टी पात्रता:

अग्निवीर साल में मात्र 30 दिन की छुट्टी के हकदार होंगे।

अग्निवीरों को कैंटीन सुविधा, यात्रा सुविधा, चिकित्सा सुविधा सामान्य सैनिक की तरह प्राप्त होंगे।

नोट: 18 वर्ष से कम आयु के अग्निवीर उम्मीदवार के फार्म पर माता-पिता के हस्ताक्षर होंगे।
अग्निवीर से संबंधित अन्य सूचना के भारतीय सेना के वेबसाइट www•joinindianarmy•nic•in पर जाए 

Important Link

इंडियन एयरफोर्स अग्निवीर फॉर्म 2022Click Here
इंडियन आर्मी अग्निवीर फॉर्म 2022Click Here

5 thoughts on “Agneepath Scheme In Hindi – Agneeveer Scheme 2022

  • June 24, 2022 at 9:09 pm
    Permalink

    बहुत ही यूनिक जानकारी से भरपूर

    Reply
  • June 24, 2022 at 9:36 pm
    Permalink

    रोचक जानकारी

    Reply
  • June 26, 2022 at 8:58 pm
    Permalink

    Rochak knowledge for career

    Reply

Leave a Reply

Your email address will not be published.